History of Europe: From 1453 to treaty of Westphalia 2016-17

History of Europe: From 1453 to treaty of Westphalia 2016-17

BT/Sem-1/17

B.A. (Hons.) Semester-1 Examination, 2016-17

History

Core Course

Paper: BSH-112

History of Europe (From 1453 to treaty of Westphalia)

Time: Three Hours

Full Marks: 70

 

Note: This paper comprises of 3 sections. All questions of Section A are compulsory. There are three short answer type questions with internal choice to be answered in section B and two long answer type questions with internal choice to be answered in Section C.

इस प्रश्न-पत्र के तीन खंड हैं ‘अ’,  ‘ब’ एवं ‘स’ हैं. भाग ‘अ’ के सभी प्रश्न अनिवार्य हैं.  भाग ‘ब’ से तीन प्रश्नों तथा भाग ‘स’ से 2 प्रश्नों का उत्तर दें जो आंतरिक विकल्प के साथ हैं.

Section – A/ खंड-  अ

(Objective type questions)

Note: Write the answers of the following questions is not more than 50 words each. Each question carries 2 marks.

निम्नलिखित प्रश्नों में से प्रत्येक के उत्तर अधिकतम 50 शब्दों में दें.  प्रत्येक प्रश्न के 2 अंक हैं.

1.(a) Explain the term ‘Counter reformation.’

प्रति धर्म सुधार का अर्थ समझाइए |(b) Name the English ruler who first broke ties with the Pope and the Catholic Church.

उस अंग्रेज शासक का नाम बताइए जिसने पहले पोप और कैथोलिक चर्च के साथ संबंध-विच्छेद  किया |

(c) What is the significance of Prince Henry the navigator ?

महानाविक प्रिंस हेनरी का क्या महत्व है ?

(d) Who was the author of the famous work The Prince ?

प्रसिद्ध रचना “द प्रिंस” के लेखक कौन थे ?

(e) What was the theory of kingship of Louis xiv ?

लुई  14वें के राजत्व का सिद्धांत क्या था ?

 

Section-B/खंड- ब

(Short answer type questions)

Note: Answer each question in about 250 words.  Each question carries 10 marks.

निम्नलिखित प्रश्नों में से प्रत्येक के उत्तर अधिकतम 250 शब्दों में दें.  प्रत्येक प्रश्न के 10 अंक हैं.

2. Give an assessment of the reason of Peter the great of Russia .

रूस के पीटर महान के शासन का मूल्यांकन कीजिए |

Or

Throw light on the rise of nation states in Europe.

यूरोप में राष्ट्र राज्यों के उदय पर प्रकाश डालिए |

3. Discuss the causes of  Renaissance in Europe.

यूरोप में पुनर्जागरण के कारणों की चर्चा कीजिए |

Or

Give an account of The Revolt in Netherlands in the 16th century.

16वीं शताब्दी में हुए नीदरलैंड के विद्रोह का विवरण दीजिए |

4. Give a brief outline of the foreign policy of Philip II of Spain.

स्पेन के शासक फिलिप द्वितीय की विदेश नीति की संक्षिप्त रूपरेखा प्रस्तुत कीजिए |

Or

What was the commercial revolution ?  how did it impact the economy of Europe ?

वाणिज्यिक क्रांति क्या थी ?  उसने यूरोप की अर्थव्यवस्था को किस प्रकार प्रभावित किया ?

Section: C//खंड- स

(Long answer type questions)

Note: Answer all questions.  Each question carries 15 marks.

सभी प्रश्नों के उत्तर दीजिए.  प्रत्येक प्रश्न 15 अंकों का है.

5. Describe the term religious reformation and discuss the role of Martin Luther in it.

धर्म सुधार से क्या तात्पर्य है ?  इसके अंतर्गत मार्टिन लूथर की भूमिका पर चर्चा कीजिए |

Or

Comment of the economic crisis in Europe in the 17th century.

यूरोप में 17 वी शताब्दी के आर्थिक संकट पर टिप्पणी कीजिए |

6. Make a brief assessment of Louis xiv as on absolute monarch.

एक निरंकुश शासक के रूप में लुई 14वें  का संक्षिप्त संक्षिप्त आकलन कीजिए |

Or

30 years war is an important landmark in the history of Europe. comment.

यूरोप के इतिहास में 30 वर्षीय युद्ध एक महत्वपूर्ण घटना है |  टिप्पणी कीजिए |

Read also:

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*